SWARN VIDHYA

BHIS Director, Ms. Jasmine Gandhi, took a significant step forward in founding Swarn Vidya, classes to impart free education and life-skills to every underprivileged girl child to make them independent individuals. The main aim behind inception of Sawrn Vidya was to let students grow in their own space, allowed to discover themselves, express their opinions and generate their own ideas. Our teachers, at Swarn Vidya, change the pedagogy according to the requirement of each and every student so that all of them can flourish in a joyful and nurturing environment.

र्स्वण विद्या क्लासेस

‘जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है, सोने के सामान चमकीली व खरी विद्या’

हमारी प्रबन्धक महोदया श्रीमती जैसमीन गाँधी जी ने अपनी पूज्यमाता जी को सम्मान देने के लिये उनके नाम “र्स्वण” पर बालिकाओं को निःशुल्क शिक्षा देने का संकल्प किया । फलस्वरूप र्स्वण विद्या क्लासेस नामक विद्यालय की नींव रखी गई । 1 मार्च 2018 में मात्र 9 छात्राओं के साथ शुरु हुई ये संख्या उतरोत्तर उनके व हमारी प्रधानाचार्य महोदया शर्मिला चटर्जी जी के अथक प्रयास से बढती ही जा रही है,साथ ही हमारे प्रधानमंत्री जी की योजना “बेटी बचाओ बेटी पढाओ” से प्रेरित होकर ‘बेटी की शिक्षा बेटी का सम्मान’ मूलमंत्र के साथ सफलता पूर्वक आगे बढ़ रही है । जिसे हम सब लगातार विस्तार देने का प्रयास कर रहे हैं ।

इसी संदर्भ में हमारे बच्चों ने विज्ञान प्रदर्शनी में भी भागीदारी की और लोगों को बेहतर पर्यावरण, सन्तुलित आहार व साफ-सफाई का ध्यान रखने के लिये जागरुक किया ।

हमारी प्रबन्धक महोदया -

स्वर्ण विद्या क्लासेस की स्थापना 1 मार्च 2018 को हमारी प्रबन्धक महोदया श्रीमती जैसमिन गाँधी एवम् हमारी प्रधानाचार्या श्रीमती शर्मिला चटर्जी जी के कर कमलों द्वारा की गई । एक कुशल शिक्षाविद् के रूप में वे स्वर्ण विद्या के माध्यम से समाज के गरीबी रेखा से नीचे रह रहे परिवार के बच्चों को निःशुल्क शिक्षा देने में सक्षम होने पर अपनेआप को धन्य महसूस करती हैं। उनका मत है कि जब हर एक विद्यार्थी की आवाज सुनाई देती है,तब वातावरण ऐसा बनता है,जहॉं विद्यार्थी अपने आप को व्यक्त कर सकते हैंं।

हमारा दृष्टिकोण -

सभी छात्रों के लिऐ गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा सुनिश्चित करने की दिशा में हमारा दृष्टिकोण इस प्रकार से है कि इस लक्ष्यको पूरा करने में हम सक्षम हो । प्रत्येक बच्चों में एक छिपी हुई प्रतिभा होती है ,उस जुनूनी प्रतिभा को निखारकर उनमें विनम्रता,सादगी व उनके सम्पूर्ण व्यक्तित्व का विकास करना इस केन्द्र की पहचान है।

हमारा अभियान -

‘बेटी की शिक्षा बेटी का सम्मान’ प्रत्येक बालिका को,जो धनाभाव के कारण शिक्षा प्राप्त नहीं कर सकती। ऐसी बालिकाओं को उनके घर जाकर केन्द्र तक लाना व उन्हें निःशुल्क शिक्षा देकर समाज की मुख्य धारा में लाकर उन्हें सम्मान पूर्वक रहना सिखाना है जिससे वे स्वयं शिक्षित होकर परिवार व समाज को शिक्षित कर सकें।

विशेषताएँ -

1.निःशुल्क शिक्षा के साथ बच्चों को विद्यालय में होने वाले विज्ञान प्रदर्शनी में भी भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है, इस प्रदर्शनी में बच्चों ने अपनी छिपी हुई प्रतिभा का अद्भुत प्रदर्शन किया।
2.कला एवं क्राफ्ट के अन्तर्गत बच्चों को कई तरह के कार्ड व आवश्यक सामग्री बनाने की सुविधा दी जाती है, जिससे उनका रचनात्मक विकास होता है।
3.प्रत्येक राष्ट्रीय व सांस्कृतिक पर्व पर रंगारंग कार्यक्रम द्वारा उनके नृत्य, संगीत कौशल का विकास भलीभाँति कराया जाता है।
4.आवश्यकतानुसार टीकाकरण दिवस पर टीका लगवाकर उनके स्वास्थ्य का पूर्ण ध्यान रखा जाता है।

खेल -

विभिन्न खेलों के माध्यम से छात्रों का सर्वागीण विकास किया जाता है।

पी.टी- शारीरिक व्यायाम के माध्यम से बच्चों के शारीरिक विकास पर थ्यान दिया जाता है ।

योगाभ्यास -योग के अन्तर्गत अनेक आसनों द्वारा आन्तरिक मजबूती पर भी ध्यान देना केन्द्र की प्राथमिकता है ।

ताइक्वांडो – स्वरक्षा व दूसरों की सहाय़ता के लिए सदैव तत्पर रहने के लिए ताइक्वांडो का प्रशिक्षण दिया जाता है ।